अमरनाथ कैसे जाएं और घूमने की अच्छी जगह​

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आप लोगों को अमरनाथ कैसे जाएं/How to Reach Amarnath Yatra और घूमने की अच्छी जगह के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं. तो सबसे पहले जानकारी के लिए हम आप लोगों को यह बता दें कि अमरनाथ की यात्रा भारत की सबसे पवित्र और सबसे बड़ी धार्मिक यात्रा मानी जाती है.

अमरनाथ की यात्रा भगवान शंकर जी को समर्पित है जो कि एक विशाल गुफा के अंदर बर्फ़ से बनी हुई शिवलिंग के दर्शन करना है. प्राचीन ग्रंथों के अनुसार ऐसा बताया जाता है कि इस गुफा के अंदर भगवान शिव ने माता पार्वती को अमर तत्व की कहानी सुनाई थी.

तभी से इस गुफा के अंदर स्वत: ही शिवलिंग का निर्माण होता है और उसकी पूजा अर्चना की जाती है. अमरनाथ की यह पवित्र यात्रा प्रति वर्ष जून महीने के अंतिम सप्ताह से प्रारंभ होती है और रक्षाबंधन के दिन पर समाप्त होती है.

अमरनाथ कैसे जाएं

बाबा बर्फानी के नाम से प्रसिद्ध अमरनाथ जी की यह पवित्र गुफा जम्मू कश्मीर राज्य के अनंतनाग जिले में स्थित है. अमरनाथ यात्रा की पवित्रता और लोकप्रियता का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि इस यात्रा में प्रतिवर्ष 5 लाख से अधिक श्रद्धालु हिस्सा लेते हैं.

यदि आप भी इस साल अमरनाथ की यात्रा पर जाना चाहते हैं तो हम आप लोगों को इस आर्टिकल में यह बताने वाले हैं कि अमरनाथ कैसे जाएं और यहां पर घूमने की कौन-कौन सी अच्छी जगह है. तो आइए दोस्तों अमरनाथ की यात्रा पर कैसे जाएं के बारे में विस्तार से जानते हैं.

आप भारत के किसी भी राज्य या शहर से हो यदि आप अमरनाथ यात्रा पर जाना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आप लोगों को जम्मूतवी जाना होता है.

Best 8 Online Loan Apps: Finding the Perfect Match for Your Financial Needs

ट्रेन से अमरनाथ कैसे जाएं

यदि आप ट्रेन से अमरनाथ की यात्रा पर जाना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आप लोगों को जम्मूतवी पहुंचना होता है. जम्मू तवी भारत का एक उत्तरी राज्य है जहां पर देश के किसी भी जगह से जाने के लिए ट्रेन मिल जाती है. जम्मू भारत के लगभग सभी रेल मार्ग से जुड़ा हुआ है जिसकी वजह से यहां पर पहुंचना बेहद आसान है. भारत के किसी भी राज्य और शहर से जम्मूतवी जाने के लिए दिन में ट्रेन किसी भी समय मिल जाती है.

प्लेन से अमरनाथ कैसे जाएं

वैसे तो भारतीय वायु मार्ग देश के कई बड़े शहरों और राज्यों से जुड़ा हुआ है लेकिन फिर भी कुछ शहर या गांव में हवाई अड्डे उपलब्ध नहीं होता है. फ़्लाइट से अमरनाथ यात्रा पर जाने के लिए यहां का सबसे नजदीकि हवाई हड्डा श्रीनगर हैं. इसलिए यदि आप वायु मार्ग से श्रीनगर​ जाना चाहते हैं तो आप अपने नजदीकी हवाई अड्डे से श्रीनगर​ जा सकते हैं. यदि आपके नजदीकी शहर से श्रीनगर​ के लिए सीधे फ्लाइट है नहीं है तो आप दिल्ली होते हुए भी जा सकते हैं. भारत की राजधानी दिल्ली जाने के लिए सभी जगह से फ्लाइट मिल जाती है.

बस से अमरनाथ कैसे जाएं

जैसा कि हम लोग सभी जानते हैं कि सड़क मार्ग भारत के सभी गांवों और शहरों से जुड़े हुए हैं. यही वजह है कि भारत में किसी भी जगह पर जाने के लिए सड़क मार्ग का बेहद अधिक उपयोग किया जाता है. आप भारत के किसी भी जगह से बस या कार के द्वारा बाय रोड जम्मू तवी जा सकते हैं.

अमरनाथ यात्रा पर कैसे जाएं

अमरनाथ यात्रा पर जाने के लिए दो मार्ग है, पहला पहलगाम (45 किलोमीटर का मार्ग है) और दूसरा बालटाल (15 किलोमीटर का मार्ग है) का मार्ग हैं. जम्मू तवी जाने के बाद आप जिस भी मार्ग से यात्रा पर जाना चाहते है वहां पर बस या कार से पहुंच सकते हैं. यदि आप गवर्नमेंट बस से वेलकम जाना चाहते हैं तो इसके लिए आप लोगों को जम्मूतवी के निकटतम बस स्टेशन भगवतीनगर जाना होता है.

भगवती नगर से सरकारी बस पहलगाम तक जाती है जिसका किराया भी बेहद कम होता है. पहलगाम जाने के लिए भगवती नगर से बस सुबह 4:00 बजे निकलती है और टिकट भी आप लोगों को यहीं पर मिल जाती है.

अब इसके आगे का सफर यदि आप पहलगाम से यात्रा करते है तो​, अमरनाथ यात्रा करने के लिए सबसे पहले आपको चंदनवाड़ी पहुंचना होगा, इसके लिए पहलगाम से कार और टैक्सी आसानी से मिल जाती हैं.

पहलगाम से चंदनबाड़ी कैसे जाएं

जब आप सुबह 4 बजे से भगवती नगर से पहलगाम के लिए निकलते हैं तो आप लोगों को यहां पर पहुंचने में शाम हो जाती है. इसलिए पहलगाम में रात्रि विश्राम करने के लिए यहां पर आप लोगों को होटल लेनी होती है जो बेहद ही कम कीमत में आसानी से मिल जाती है.

चंदनबाड़ी से अमरनाथ की यात्रा शुरू होती है इसके लिए वहां पर आप लोगों को सुबह 10:00 बजे तक पहुंचना होता है. पहलगाम से चंदनबाड़ी जाने के लिए सुबह कार और टैक्सी मिल जाती है.

चंदनबाड़ी से अमरनाथ की यात्रा कैसे करें

दोस्तों चंदनबाड़ी से पैदल यात्रा पर जाने से पहले यहां से लाठी और रेन कोट जरूर रख लें, क्योंकि आगे चढ़ाई बहुत ही ज्यादा है और यहां बारिश कभी भी हो सकती हैं.

हेलीकाप्टर से अमरनाथ गुफा तक कैसे पहुंचे

यदि आप यदि आप पहलगाम से यात्रा करते है तोसे अमरनाथ की गुफ़ा तक जाना चाहते है तो इसके लिए आपको सबसे पहले नीलग्राथ जाना होता हैं. पहले बालटाल से भी हेलीकाप्टर मिल जाते थे लेकिन सरकार ने इसे 2015 के बाद बदलकर नीलग्राथ में कर दिया हैं.

नीलग्राथ बालटाल से 12 किलोमीटर और सोनमार्ग से 4 किलोमीटर कि दूरी पर हैं. नीलग्राथ से हेलीकाप्टर आपको लो-अर केव हैलीपेड तक लेकर जाता हैं. यहां से अमरनाथ बाबा की पवित्र गुफ़ा सिर्फ 500 मीटर कि दूरी पर है जहां पर आप पैदल या पीट्टू से भी जा सकते हैं.

आवश्यक दस्तावेज​– हेलीकाप्टर से जाने के लिए सभी यात्रियों को चेक इन पर फोटो पहचान पत्र और यात्रा पंजीकरण दिखाना जरूरी हैं.

अमरनाथ में रूकने की जगह​

यदि हम अमरनाथ की यात्रा के दौरान ठहरने की व्यवस्था की बात करें तो यहां पर धार्मिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले लोग ठहरने के लिए डॉरमेट्री और गेस्ट हाउस का निर्माण करते हैं जहां पर फ्री में रुका जा सकता है. इसके अलावा शेषनाग और बालटाल जैसी कुछ जगह पर रुकने के लिए कैंप भी मिलते हैं जो बेहद सस्ते होते हैं.

अमरनाथ यात्रा पर कब जाएं

वैसे तो अमरनाथ की यात्रा प्रतिवर्ष जून महीने के अंत से शुरू होती है और रक्षाबंधन के दिन समाप्त होती है. इस बीच में आप चाहे तो किसी भी समय जा सकते हैं. लेकिन मेरा ऐसा मानना है कि यदि आप जुलाई के महीने में यह यात्रा करते हैं तो बेहद अच्छा होता हैं.

क्योंकि इस समय यहां का मौसम भी बेहद अच्छा रहता है और ज्यादा बारिश भी नहीं होती है. कई बार अगस्त के महीने में ज्यादा बारिश होने से यहां पर भूस्खलन होने से यात्रा में रुकावट हो जाती है और कई दिनों तक एक यात्रा नहीं होती है. इसलिए बेहतर होगा कि आप जुलाई के महीने में इस यात्रा पर जाएं.

अमरनाथ यात्रा का रजिस्ट्रेशन कैसे करें

किसी भी नागरिक के लिए अमरनाथ की यात्रा पर जाने के लिए रजिस्ट्रेशन बेहद अनिवार्य है. यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन ज्यादातर बड़े शहरों में ही स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब बैंक ऑफ इंडिया और जम्मू कश्मीर बैंक ऑफ इंडिया की कुछ शाखाओं पर ही होता है. इसके अलावा यदि आप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो इस वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं.

यात्रा का रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपके पास आधार कार्ड, तीन पासपोर्ट साइज फोटो और किसी मान्यता प्राप्त डॉक्टर से मेडिकल बनवाना आवश्यक है. इन सभी डॉक्यूमेंट के साथ आप ऑफलाइन और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से कर सकते हैं.

इन सभी के अलावा आप जम्मू तवी जाकर भी अमरनाथ यात्रा का रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. जम्मू तवी में अमरनाथ यात्रा श्राइन बोर्ड के द्वारा कई कैंप का आयोजन किया जाता है जहां पर यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन किया जाता है.

अमरनाथ जाने का खर्चा कितना आएगा

जम्मू तवी पहुंचने के बाद यदि आप सरकारी बस से अमरनाथ की यात्रा पर जाते हैं तो 2500 से 3000 रूपये का खर्चा आता है.

यह भी पढ़े
10 Best Apps For Web series (Free)
मनाली में घूमने लायक 11 खूबसूरत जगह​|
10 अक्षय कुमार​ की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्में|
10 Best Fantastic Fitness Apps For Android (Free)

केदारनाथ कैसे जाएं और कब जाएं
शिमला में घूमने की 12 पसंदीदा जगह​
केदारनाथ में घूमने की 5 अच्छी जगह​
साउथ की 11 सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्में

अमरनाथ की पैदल यात्रा कितनी है?

चंदनवाड़ी से अमरनाथ बाबा की पवित्र गुफा लगभग 45 किलोमीटर की दूरी पर है.

अमरनाथ में घूमने की जगह

पहलगाम, चंदनबाढ़ी, शेषनाग​, पंचतरणी, सोनमर्ग​

दोस्तों यदि आप लोगों को हमारा यह आर्टिकल अमरनाथ यात्रा पर कैसे जाएं और घूमने की अच्छी जगह​ अच्छा लगा है तो आप हमें कमेंट कर​बता सकते हैं. यात्रा, मनोरंजन​, टैक्नोलॉजी और मोटिवेशन कोट्स से जुड़ी हुई रोचक व नवीनतम जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पढ़ते रहिए.

(Visited 265 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close button