स्वामी दिपांकर जी के 25 अनमोल वचन​ | Swami Dipankar Ke Anmol Vachan

इस लेख में हम आपको भारत के जाने माने Swami Dipankar Ke Anmol Vachan बता रहे हैं. स्वामी दिपांकर का नाम तो काफि लोगों ने सुना होगा जो कि एक मशहूर ध्यान गुरू हैं. जानकारी के लिए आपको बता दे कि स्वामी दिपांकर जी का जन्म उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फर नगर में हुआ था. उन्हें बचन से ही उनकी दिलचस्पी जप और ध्यान में रही हैं.

दिपांकर जी ने महज 8 साल कि उम्र में ही अपना घर त्याग दिया और अध्यात्म के मार्ग पर चले ग​ए. उन्होंने मनोविज्ञान और संस्कृत का गहन अध्यान किया व हिन्दू शास्त्रों का ज्ञान प्राप्त किया.यही वजह है कि वे वर्तमान में दिपांकर फाउंडेशन चलाते हैं. जो कि समाज सुधारक का कार्य करता हैं. इसके साथ ही दिपांकर जी गलत रास्ते पर चलने वालों लोगों का मार्गदर्शन करते हैं. इसलिए लोग स्वामी दिपांकर के अनमोल वचन जानना चाहते हैं.

Swami Dipankar Ke Anmol Vachan

स्वामी दिपांकर के अनमोल वचन​ | Swami Dipankar Ke Anmol Vachan

स्वामी दिपांकर महाराज लोगों को अध्यात्म का ज्ञान भी देते हैं. जिससे लोगों में मानवीय मूल्यों का विकास होता हैं और वह सामाजिक समस्याओं और हिंसा से दूर रहता हैं. स्वामी जी का मनना है कि अध्यात्मिकता वह है जो व्यक्ति में करूणा, प्रेम और उत्साह को बड़ाती हैं. तो दोस्तों अब आइए जानते है स्वामी दिपांकर के अनमोल वचन​/Swami Dipankar Ke Anmol Vachan के बारे में.

1. बेवजह के सवालों का सबसे बड़ा उत्तर​…
मौन हैं.

Bevajah ke savaalon ka sabase bada uttar​…
maun hain.

2. आराम करने के लिए मेहनत मत करो,
मेहनत इतनी करों के आराम करना पड़े…!

Aaraam karane ke lie mehanat mat karo,
mehanat itanee karon ke aaraam karana pade…!

3. अहंकार और संस्कार में यही फर्क है, अहंकार दूसरों को झुकाकर खुश होता हैं,
संस्कार स्वंय झुककर खुश होता हैं….!

Ahankaar aur sanskaar mein yahee phark hai, ahankaar doosaron ko jhukaakar khush hota hain,
sanskaar svany jhukakar khush hota hain….!

4. बूरे लोग तभी जीतते है,
जब अच्छे लोग कुछ नहीं करते….!

Boore log tabhee jeetate hai,
jab achchhe log kuchh nahin karate….!

5. ये आँखें भी बड़ी विचित्र है ढ़ूँढ़ती उन्हें है
जो नज़र​-अंदाज करते है!!

Ye aankhen bhee badee vichitr hai dhoondhatee unhen hai
jo nazar​-andaaj karate hai!!

Swami Dipankar Ke Anmol Vachan In Hindi 5 to 10

6.शांत ही रहना बेहतर है,
बातों से लोग रूठते बहुत हैं….!

Shaant hee rahana behatar hai,
baaton se log roothate bahut hain….!

7.जीतकर दिखा उनको,
जो तुम्हारी हार का इंतजार कर रहे है…!

Jeetakar dikha unako,
jo tumhaaree haar ka intajaar kar rahe hai…!

8.कभी कभी जवाब न देना ही,
सबसे बड़ा जवाब होता है.!

Kabhee kabhee javaab na dena hee,
sabase bada javaab hota hai.!

9.बुरा समय अवश्य बदल जाता है,
लेकिन बदलते हुए लोग सदैव याद रहते हैं…!

Bura samay avashy badal jaata hai,
lekin badalate hue log sadaiv yaad rahate hain…!
यह भी जरूर पढ़े
मराठी भाषा की 10 सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्में
11 मोटिवेशन टिप्स हिन्दी में ​
20 अरुण गोविल के अनमोल विचार
21 अनुपम खेर के प्रेरणादायक विचार
10 बाइक रेसिंग गेम​
कार्तिक आर्यन की सफलता के ये 7 ‘राज​’

10.देने के लिए दान​, लेने के लिए ज्ञान और
छोड़ने के लिए अभिमान सबसे उत्तम है..!

Dene ke lie daan​, lene ke lie gyaan aur
chhodane ke lie abhimaan sabase uttam hai..!

स्वामी दिपांकर के अनमोल वचन 10 to 15

11.पहले खुद पर ध्यान दो,
फिर दुसरों को ज्ञान दो…!

Pahale khud par dhyaan do,
phir dusaron ko gyaan do…!

12.अकेले खड़े होने का साहस रखो,
यहां मुफ़्त में ज्ञान मिलता है साथ नहीं!!

Akele khade hone ka saahas rakho,
yahaan muft mein gyaan milata hai saath nahin!!

13.आप कितने ज्ञानी है यह आपके बोलने से नहीं,
बल्कि खामौश रहने से पता चलता हैं!!

Aap kitane gyaanee hai yah aapake bolane se nahin,
balki khaamaush rahane se pata chalata hain!!

14.माफ़ि के हकदार गलती करने वाले होते है,
चालाकी करने वाले नहीं!!

Maafi ke hakadaar galatee karane vaale hote hai,
chaalaakee karane vaale nahin!!

15.व्यक्ति की अभिव्यक्ति बता देती है कि,
परवरिश हुई है या, पाले ग​ए हैं..!

Vyakti kee abhivyakti bata detee hai ki,
paravarish huee hai ya, paale ga​e hain..!

Swami Dipankar Motivation Quotes In Hindi 15 to 20

16.तुम व्यर्थ ही अच्छे अवसरों को ढ़ूढ़ने में लगे हो…
तुम जिंदा हो, ये क्या कम बड़ा अवसर नहीं है..!

Tum vyarth hee achchhe avasaron ko dhoodhane mein lage ho…
tum jinda ho, ye kya kam bada avasar nahin hai..!

17.जीवन में ये तीन मंत्र हमेशा याद रखना
1) आनंद में वचन मत दीजिए
2) क्रोध में उत्तर मत दीजिए
3) दु:ख में निर्णय मत लीजिए

Jeevan mein ye teen mantr hamesha yaad rakhana
1) aanand mein vachan mat deejie
2) krodh mein uttar mat deejie
3) du:kh mein nirnay mat leejie

18.जो कुछ भी था
सब कुछ खो चुका हूँ मैं
करके सबका भला
अब बुरा हो चुका हूँ मैं…

Jo kuchh bhee tha
sab kuchh kho chuka hoon main
karake sabaka bhala
ab bura ho chuka hoon main…

19. आज वही कल है…
जिस कल की फ़्रिक्र
तुम्हे कल थी…

Aaj vahee kal hai…
jis kal kee frikr
tumhe kal thee…

20. धर्म केवल मार्ग बताएगा,
पर मंज़िल तक तुम्हे कर्म ही लेकर जाएगा!!

Dharm keval maarg bataega,
par manzil tak tumhe karm hee lekar jaega!!

Swami Dipankar Ke Anmol Vachan In Hindi 20 to 25

21. लोगों ने बताया कि वक्त बदलता है, और
वक्त बोला लोग बदलते जाते है…!!
विश्वास न हो तो आजू बाजू देख लो

Logon ne bataaya ki vakt badalata hai, aur
vakt bola log badalate jaate hai…!!
vishvaas na ho to aajoo baajoo dekh lo

22. जब अपने कमाए पैसे से चीजे लाने लगोगे,
शौक अपने आप कम हो जाएंगे!!

Jab apane kamae paise se cheeje laane lagoge,
shauk apane aap kam ho jaenge!!

23. कोई कितना भी अपना हो,
पर “हित” पहले वो अपना ही देखता है!!

Koee kitana bhee apana ho,
par "hit" pahale vo apana hee dekhata hai!!

24. “गलतफहमी” रखना, “गलती” करने से ज्यादा
खतरनाक होता हैं!!

"Galataphahamee" rakhana, "galatee" karane se jyaada
khataranaak hota hain!!

25. जीवन की सबसे बड़ी खुशी उस कार्य को करने में है,
जिसे लोग कहते है “तुम नहीं कर सकते”

Jeevan kee sabase badee khushee us kaary ko karane mein hai,
jise log kahate hai "tum nahin kar sakate"

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल स्वामी दिपांकर जी के 25 अनमोल वचन​ | Swami Dipankar Ke Anmol Vachan अच्छा लगा है तो हमें कमेंट कर बता सकते हैं. मोटिवेशन​, यात्रा, मनोरंजन और टैक्नोलाजी से जुड़ी हुई जानकारी पढ़ने के लिए हमारी बेवसाइट पढ़िए.

(Visited 115 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close button